2018.11.22, Thursday
«Left Right»
  • Chalcolithic Age in India

    Chalcolithic is also known as Eneolithic period which saw the use of the metals among which the Copper was first. ...

  • Neolithic Age in India

    The Neolithic period began around 10700 to 9400 BC in Tell Qaramel in Northern Syria. In South Asia the date ...

  • Mesolithic Age in India

    The transition from the Palaeolithic period to Mesolithic period is marked by transition from Pleistocene period to ...

  • Palaeolithic Age Prehistory of India

    Prehistoric period belongs to the time before the emergence of writing. It is believed that man learnt writing only ...

«Left Right»

MOST POPULAR

2018.11.22, Thursday

The difference between names of Harappan Civilization and Indus Valley Civilization

Both the names are coterminous. Harappa is an archaeological site in Punjab, Pakistan and this was the first site where the remains of the civilization were first found. That is why it is called Harappan Civilization.

Since it started in the river valley of the Indus River and largest concentration of the settlements has been found along the course of this river, it was called Indus Valley Civilization.

 

 

 

Source:gktoday

गौतम बुद्ध : बौद्ध धर्म के विषय में संक्षिप्त जानकारी

Contents1 गौतम बुद्ध का जन्म2 गृह-त्याग और शिक्षा ग्रहण3 ज्ञान प्राप्ति4 प्रथम उपदेश5 मृत्यु6 निर्वाण-प्राप्ति7 अष्टांगिक मार्ग (Astangik Marg)8 बौद्ध सभाएँ गौतम बुद्ध का जन्म बौद्ध धर्म के संस्थापक गौतम बुद्ध थे. गौतम बुद्ध का जन्म 567 ई.पू. ...

भारत के ऐतिहासिक स्थल

Contents1 1. मोहनजोदड़ो (Mohenjo-daro)2 २. अहमदनगर (Ahmednagar)3 ३. नचना (Nachna)4 ४. थानेश्वर (Thaneshwar)5 ५. बनवाली (Banawali)6 ६. चेदि (Chedi)7 7. चंपानेर (Champaner)8 8. गजनी (Ghazni)9 9. देवगिरि (Devagiri)10 10. रामेश्वरम् (Rameshwaram) ...

[ ऋग्वेद ] Important Topics for UPSC प्रीलिम्स Exam

आज हम आपके सामने ऋग्वेद (Rig Veda) के कुछ important topics रख रहे हैं. ये सवाल आपके UPSC/UPPSC/MPPSC या किसी भी अन्य PCS परीक्षा में काम आ सकते हैं. यदि भारतीय प्राचीन इतिहास की बात की जाए तो वेदों से सम्बंधित सवाल परीक्षाओं में काफी अधिक मात्रा ...

वेदों के विषय में संक्षिप्त विवरण

Contents1 ऋग्वेद (Rig Veda)2 सामवेद (Samveda)3 यजुर्वेद (Yajurveda)4 अथर्ववेद (Atharva Veda )4.1 PDF of Vedas वेद सनातन धर्म के प्राचीनतम ग्रन्थ हैं. यहीं नहीं, ये विश्व के सबसे पुरानी कृतियाँ हैं. इन्हें संसार का आदिग्रंथ कहा जा सकता है. इससे ...

छह वेदांग और उनका संक्षिप्त परिचय

Contents1 वेदांग के प्रकार1.1 शिक्षा1.2 कल्प1.3 व्याकरण1.4 निरुक्त1.5 छन्दस्1.6 ज्योतिष वेदाध्ययन में सहायक – ग्रन्थों को वेदांग कहते हैं. कई बार UPSC परीक्षा के Prelims Exam में match of the following में इस topic पर सवाल आ जाते हैं. ...

जैन धर्म का इतिहास, नियम, उपदेश और सिद्धांत

Contents1 जैन धर्म – 24 तीर्थंकर1.1 24 तीर्थंकर के नाम और उनके चिन्ह 1.2 महावीर स्वामी1.3 महावीर के उपदेश1.4 दिगंबर और श्वेताम्बर जैन धर्म – 24 तीर्थंकर जैन धर्म और बौद्ध धर्म  में बड़ी समानता है. किन्तु अब यह साबित हो चुका है कि ...

अशोक के शिलालेख

अशोक के अनेक शिलालेख उपलब्ध हुए हैं. अशोक ने इन्हें “धम्मलिपि” कहा है. इनकी दो प्रतियाँ जो पेशावर और हजारा जिले में मिली हैं, खरोष्ठी लिपि में हैं. इस पोस्ट के जरिये आपके सामने इन शिलालेखों का संक्षिप्त विवरण (brief information of ...

जैन साहित्य

Contents1 जैन साहित्य के प्रकार1.1 द्वादश अंग1.1.1 पहला अंग आचारंग सुत्त (आचारंग सूत्र)1.1.2 सूत्र कृदंग (सूत्र कृयाड़्क)1.1.3 स्थानांग1.1.4 समवायांग1.1.5 भगवती सूत्र1.1.6 ज्ञान धर्म कथा1.1.7 उवासंग दशाएँ (उपासक दशा)1.1.8 अंतः कृदृशाः1.1.9 ...

सोलह महाजनपद – प्रमुख राज्यों का संक्षिप्त विवरण

Contents1 सोलह महाजनपद और उनकी राजधानी 1.1 अंग1.2 मगध1.3 काशी1.4 वृज्जि या वज्जि संघ1.5 कोसल1.6 मल्ल1.7 चेदि1.8 वत्स1.9 कुरु1.10 पंचाल1.11 मत्स्य1.12 शूरसेन1.13 अस्सक या अस्मक1.14 अवन्ति1.15 कम्बोज1.16 गांधार बौद्ध और जैन धार्मिक ग्रन्थों से पता ...

पुरापाषाण, मध्यपाषाण और नवपाषाण काल के विषय में स्मरणीय तथ्य

Contents1 पुरापाषाण (Paleolithic Age)1.1 Paleolithic Age Facts2 मध्यपाषाण युग (Mesolithic Age)2.1 Mesolithic Age Facts3 नवपाषाण काल (Neolithic Age)3.1 Neolithic Age Facts आज हम आपको पुरापाषाण (Paleolithic Age), मध्यपाषाण (Mesolithic Age) और ...

विजयनगर साम्राज्य की स्थापना

मुहम्मद तुगलक के शासनकाल (1324-1351 ई.) के अंतिम समय में (उसकी गलत नीतियों के कारण) जब अधिकाँश स्थानों पर अव्यवस्था फैली और अनेक प्रदेशों के शासकों ने स्वयं को स्वतंत्र घोषित कर दिया तो दक्षिण के हिन्दू भी इससे लाभ उठाने से नहीं चूके. उन्होंने ...

बिंदुसार (298 ई.पू. – 273 ई.पू.) का जीवन

Contents1 इतिहासकारों का मत2 बिंदुसार का राज्यकाल3 विद्रोहों का दमन4 विदेशी देशों से संबंध5 मृत्यु चन्द्रगुप्त के बाद उसका पुत्र बिंदुसार (Bindusara) सम्राट बना. आर्य मंजुश्री मूलकल्प के अनुसार जिस समय चन्द्रगुप्त ने उसे राज्य दिया उस समय वह ...

भारत पर हूणों का आक्रमण और उसका प्रभाव

Contents1 हूण कौन थे?2 भारत पर आक्रमण3 हूणों के आक्रमणों का प्रभाव3.1 ऐतिहासिक प्रकरणों का विनाश3.2 राजनीतिक प्रभाव3.3 सांस्कृतिक प्रभाव आज हम इस पोस्ट में जानने कि कोशिश करेंगे कि हूण कौन थे, ये कहाँ से आये और भारत पर इनके आक्रमण (Huna ...

तमिल भाषा और संगम साहित्य

दक्षिण भारत की सर्वाधिक प्राचीन भाषा संभवतः तमिल थी. विद्वानों की राय है कि संभवतः स्थानीय भाषाओं के रूप में यहाँ तेलगु, मलयालम और कन्नड़ भाषाएँ भी प्रयोग में आती रहीं. वैदिक संस्कृति से सम्पर्क के बाद यहाँ संस्कृत भाषा के अनेक शब्द अपनाए गए और ...

समुद्रगुप्त और उसकी विजयें

Contents1 समुद्रगुप्त2 समुद्रगुप्त की विजयें (Conquests)2.1 उत्तर भारत की विजय2.2 पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश की विजय2.3 मध्य भारत के अन्य नरेशों के राज्यों की विजय2.4 सीमान्त कबीलाई राज्यों पर विजय2.5 दक्षिण भारत के राज्यों की विजय2.6 विदेशी ...

गुप्त साम्राज्य – Gupta Empire के प्रमुख शासक

Contents1 चन्द्रगुप्त प्रथम2 समुद्रगुप्त3 चन्द्रगुप्त द्वितीय (विक्रमादित्य)4 कुमारगुप्त प्रथम5 स्कन्दगुप्त चौथी शताब्दी में उत्तर भारत में एक नए राजवंश का उदय हुआ. इस वंश का नाम गुप्तवंश था. इस वंश ने लगभग 300 वर्ष तक शासन किया. इस वंश के ...

बुद्ध के उपदेश – Teachings of Buddha in Hindi

बुद्ध ने बहुत ही सरल और उस समय बोली जाने वाली भाषा पाली में अपना उपदेश दिया था. यदि आपको परीक्षा में सवाल आये कि बुद्ध ने उपदेश किस भाषा में दिया था तो उसका उत्तर पाली होगा, नाकि संस्कृत या हिंदी. चूँकि पाली भाषा उस समय की आम भाषा थी तो इसके ...

सम्राट अशोक के विषय में व्यापक जानकारी, कलिंग आक्रमण और शिलालेख

अशोक (लगभग 273-232 ई.पू.) मौर्य वंश का तीसरा सम्राट था. मौर्य वंश के संस्थापक उसके पितामह चन्द्र गुप्त मौर्य (लगभग 322-298 ई.पू.) थे. चन्द्रगुप्त मौर्य के बाद उसका पिता बिन्दुसार (लगभग 298 ई.पू.-273 ई.पू.) गद्दी पर बैठा था. सिंहली इतिहास में ...

बौद्ध धर्म के विषय में स्मरणीय तथ्य : Part 2

आशा है आप बौद्ध धर्म के विषय में स्मरणीय तथ्य Part 1 वाला पोस्ट पढ़ लिया होगा, यदि नहीं पढ़ा तो इस पोस्ट के नीचे उसका लिंक दे दिया गया है. Exams में कई सवाल बौद्ध और जैन धर्म से पूछ लिए जाते हैं. मैं UPSC, UPPSC, MPSC, JPSC, BPSC, RPSC इन 6 ...

आर्यों की जन्मभूमि और उनका प्रसार (साक्ष्य के साथ)

आर्यों  (Aryans) की जन्मभूमि कहाँ पर थी, इस विषय में इतिहास के विद्वानों में बड़ा मतभेद है. आर्य (Aryans) कहाँ से आये, वे कौन थे इसका पता ठीक से अभी तक चल नहीं पाया है. कुछ विद्वानों का मत है कि वे डैन्यूब नदी के पास ऑस्ट्रिया-हंगरी के विस्तृत ...

बौद्ध धर्म के विषय में स्मरणीय तथ्य : Part 1

बौद्ध धर्म (Buddhism) पर पहले भी कई पोस्ट लिखे जा चुके हैं. परीक्षाओं में कई सवाल बौद्ध और जैन धर्म से पूछ लिए जाते हैं. मैं UPSC, UPPSC, MPSC, JPSC, BPSC, RPSC इन 6 राज्यों के previous year questions को देखा और भगवान् बुद्ध और बौद्ध धर्म पर ...